Home / Events / सभी जबाबदेह बनेंगे तभी स्वच्छ बनेगा मुजफ्फरपुर

Events

सभी जबाबदेह बनेंगे तभी स्वच्छ बनेगा मुजफ्फरपुर

28 Dec 2016  --  28 Dec 2016

Muzaffarpur

National



यह बातें माननीय नगर विधायक सुरेश शर्मा ने कल दिनांक 28 दिसम्बर, 2016 को सोसायटी फाॅर पार्टिसिपेटरी रिसर्च इन एशिया (प्रिया) द्वारा स्थानीय जुब्बा साहनी आॅडिटोरियम, मिठनपुरा, मुजफ्फरपुर में ‘‘शहर की स्वच्छता में नागरिकों एवं संस्थाओं की भूमिका‘‘ विषय पर आयोजित नगर स्तरीय परिचर्चा में कही। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि शहर को स्वच्छ बनाने में सभी का सहयोग मिलेगा बशर्ते सभी विभागों को एक साथ मिलकर योजना बनानी होगी ताकि नाली, पानी, सड़क, बिजली, दूरसंचार आदि व्यवस्थाओं को अच्छी तरह से जनता तक पहुॅचाया जा सके। यहां तकनीकी विशेषज्ञों का भी काफी अभाव है जिसके कारण कार्य सही से नहीं हो पा रहा है और शहर की स्थिति में सुधार नहीं आ रहा है।


परिचर्चा की शुरूआत करते हुए प्रिया के श्री अमिताभ भूषण, कार्यक्रम प्रबंधक एवं श्री संजय यादव, वरिष्ठ कार्यक्रम अधिकारी ने प्रिया द्वारा सक्रिय नागरिक क्रियाशील शहर परियोजना की जानकारी दी एवं इसके अंतर्गत शहर के 18 वार्डों के 25 बस्तियों में किये गये स्वच्छता सर्वेक्षण के आंकड़ों को साझा किया। इसके द्वारा बस्तियों मंे शौचालय, खुले में शौच का पानी बहाने, कूड़े के उठाव, पीने के पानी एवं जल निकासी की स्थिति को बताया गयज्ञं

सर्वेक्षण के मुख्य निष्कर्ष (कुल परिवार जिनका सर्वेक्षण किया गया: 2815 परिवार की कुल जनसंख्या: 14600)

सुविधाएॅं  परिवार/व्यक्ति जिनके पास है  परिवार/व्यक्ति जिनके पास नहीं है
शौचालय   2005   810
पाईपलाइन जलापूर्ति  2564 251
राशन कार्ड 2118  697
जन्म प्रमाण पत्र नहीं है
(14 वर्ष से कम आयु के बच्चे)
  2835
भूमिहीन परिवार 2312 503
जल निकासी व्यवस्था  2112 703
आधार कार्ड 9688 4912
बैंक खाता 6716  7884
शौचालयविहीन परिवार
जिनके पास जमीन उपलब्ध है
 716 86

वोटर कार्ड
(18 वर्ष से उपर के लोग)
 1199  1616
कचरा ले जाने की सुविधा
(नगर निगम द्वारा) 
 947 1868



महापौर श्रीमति वर्षा सिंह ने कहा कि नगर के महापौर होने से पहले वह एक आम महिला हैं जो सभी व्यक्तियों को यह संदेश देती हैं कि स्वयं अपने घरों एवं आस पास को स्वच्छ रखें और इसे एक आदत बनायें।

मुजफ्फरपुर विकास मंडल के श्री रमेश पंकज ने कहा कि स्वच्छता मन से शुरू होती है। इसके लिए हम सभी को अपनी सोच बदलनी होगी। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि प्रिया को इस तरह कि मोहल्ला विकास समिति को पूरे शहर में बनाना चाहिए इसमे शहर की सभी संस्थाएं प्रिया को सहयोग करेगी। इससे स्वच्छता को बढ़ावा देने में मदद मिलेगी।


अदिथि के कार्यकारी सचिव श्री गणेश प्रसाद सिंह ने कहा कि शौचालय होने के बाद भी लोग उसका प्रयोग नहीं करते। अगर लोग स्वच्छ रहेंगे तो स्वस्थ होंगे तभी हमारा शहर भी स्वच्छ और स्वस्थ मुजफ्फरपुर बनेगा।

डाॅ‐ प्रो‐ श्रीमति तारण राय, स्वच्छता नवरत्न ने कहा कि स्वच्छता के इस अभियान को पूरा करने के लिए स्व से शुरूआत करनी होगी। स्वच्दछता का संस्कार परिवार से शुरू होकर समाज तक जाता है।

वरीय पत्रकार, श्री अमरेन्द्र तिवारी ने कहा कि लोगों एवं नगर निगम में समन्वय बहुत जरूरी है नही तो स्वच्छता सेवाओं की अच्छी कल्पना बेमानी होगी एवं हमेशा लोगों को विधायक, पार्षद एवं महापौर से शिकायर रहेगी।

परिचर्चा का धन्यवाद ज्ञापन प्रिया के कार्यक्रम अधिकारी श्री प्रकाश कुमार पाठक ने किया। इसमें अन्य संस्थाओं के सदस्य, सैनिटेशन टास्क फोर्स के सदस्य, नगर निगम स्थायी समिति के सदस्य, बस्ती विकास समिति के सदस्य, प्रिया के वरिष्ठ कार्यक्रम अधिकारी अंशु कुमारी,  रजनी, विश्वास, सत्यांशु, रीमा, रागिनी, गोपाल शाही, अनिल, पूजा, रवि, गौरव, सरिता, राजीव, त्रिपुरारी एवं अन्य गणमान्य व्यक्तियांे ने भाग लिया।

      
      

 Filter By Category  

Testimonials

  • PRIA facilitators listen, engage and explain at the level where participants understand and learn through many practical exercises. The best workshop on gender that our employees have attended

    Tsering Youdon
    Program Officer, Swedish Organisation for Individual Relief
    SOIR-IM, Dehradun, Uttarakhand
  • Elected members & officials from Northern Province, Sri Lanka visited PRIA to learn about their exemplary work in developing citizen participation in governance and service delivery. JGU thanks PRIA.

    Prof. R. Sudarshan
    Dean, Jindal School of Government and Public Policy
    O.P. Jindal Global University
  • Undeniably good work done by PRIA. My visits to the communities they work with let me hear grassroots voices and stories...deeply rewarding for my personal growth, work and future research

    Loreen Regnander
    Intern, University of Victoria, Canada
  • PRIA has helped to build a large movement for citizens to use Panchayati Raj Institutions at the local level, to use their leadership, their voice, to bring about democracy from below

    Dr John Gaventa, Director of Research
    Institute of Development Studies
    Sussex, UK
  • Thank you PRIA -- for helping me gain the confidence to speak up. Today, I do not hesitate to speak with the sarpanch.

    Renu Joshi
    ASHA worker
    Hinglaz gali Anganwadi Centre, Siwana Block, Barmer, Rajasthan
  • I have thoroughly enjoyed the privilege of being able to enroll myself in the course…this program has opened my eyes to possibilities for my life which were previously unconsidered

    Tripti Vinita Pal, Alumnus
    Appreciation course
  • I am a third party facilitator for three large institutions but I did not know half the things we have discussed in the Third Party Facilitator Training I attended organized by PRIA

    Rajlakshmi
    Joint Secretary of Lakshmi, an NGO
    Lucknow
  • Participatory Approaches for Social Inclusion course was undoubtedly beneficial for my research work, providing a deep understanding of theoretical aspects and the applied side of participation

    Pallavi Mishra
    PhD Research Scholar
    Jawaharlal Nehru University
  • We learnt multi-stakeholder dialogue as a tool for advocacy from PRIA…it is a wonderful tool for organising people

    Ashok Kadam
    Parivartan
    Maharashtra
  • I am an example of the Kishori Panchayat Programme which gave young girls the desire to do something, a reason to embrace life

    Kavita
    Kishori Panchayat Member
    Bihar